शुक्रवार, 27 फ़रवरी 2009

बेहोशी की नयी दवा: क्या आपको मालूम?


एक ज़माना था …
जब किसी को कुछ पल के लिए
बेहोश करने के
लिएक्लोरोफार्म सुंघाया जाता था…

फिर एक ज़माना आया…
जब कुछ घंटों के लिए
किसी कोबेहोश करने के लिए …
नशीली दवा और इंजेक्शन का प्रयोग किया जाने लगा…..



…और एक ज़माना यह है…
न क्लोरोफार्म…न दवा …न कोई इंजेक्शन…
अब किसी को बेहोश करने के लिए चाहिए
बस एक टेलिविज़न …..
सिनेमा, सीरियल या फिर क्रिकेट दिखाते रहिये
वे घंटे दो घंटे नहीं…
सालों बेहोश रह सकते हैं….


5 टिप्‍पणियां:

KAZH आपके बहुमूल्य टिप्पणियों का स्वागत करता है...
हिंदी में लिखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें.